श्री रामेश्वर गहिरा गुरू संस्कृत महाविद्यालय कैलाशनाथ गुफा-सामरबार (जशपुर) छ.ग..

प्रवेश:-

  • शास्त्री उपाधि परीक्शा 3 भागों में सम्पन्न होगी - (अ) शास्त्री प्रथम वर्ष (ब) शास्त्री द्वितीय वर्ष (स) शास्त्री तृतीय वर्ष
  • कोई अभ्यर्थी जिसने उतर मध्यमा या तत्समकक्श परीक्शा इस विश्वविद्यालय या भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्था से उार्ण किया है तथा विश्वविद्यालय के अध्यापन विभाग या किसी सम्बद्ध महाविद्यालय में एक शैक्शणिक सत्र में निर्धारित विषय लेकर नियमित अध्ययन पूर्ण किया हो, शास्त्री प्रथम वर्ष परीक्शा में सम्मिलित हो सकेगा।
  • अभ्यर्थी को उार मध्यमा परीक्शा के (क) वर्ग में लिये गये विषय को ही शास्त्री परीक्शा के (क) वर्ग में लेना होगा। परंतु जो छात्र किसी मान्यता प्राप्त संस्था से इन्टरमीडिएट या तत्समकक्श परीक्शा संस्कृत विषय लेकर उाीर्ण की हो या किसी भी “क“वर्गीय विषय से उार मध्यमा परीक्शा उार्ण की हो वह अभ्यर्थी साहित्य, ब्याकरण विषयों के “क“वर्ग में ही प्रवेश ले सकेगा।
  • शास्त्री प्रथम वर्ष परीक्शा उतीर्ण अभ्यर्थी जिसने विश्वविद्यालय के अध्यापन विभाग या सम्बद्ध महाविद्यालय में एक श्शैक्शणिक सत्र में निर्धारित विषय लेकर अध्ययन पूर्ण किया हो शास्त्री द्वितीय वर्ष की परीक्शा में प्रविश्ट हो सकेगा।
  • कोई अभ्यर्थी जिसने शास्त्री द्वितीय वर्ष परीक्शा इस विश्वविद्यालय से अथवा किसी अन्य मान्य विश्वविद्यालय से उतीर्ण की हो तथा एक वर्ष विश्वविद्यालय अध्यापन विभाग अथवा महाविद्यालय में अध्ययन किया हो, शास्त्री तृतीय वर्ष की परीक्शा में सम्मिलित हो सकेगा।
  • कोई अभ्यर्थी जिसने शास्त्री द्वितीय वर्ष परीक्शा, किसी अन्य विश्वविद्यालय से उŸाीर्ण किया हो कुलपति की अनुमति प्राप्त कर शास्त्री तृतीय वश की परीक्शा में प्रविश्ट हो सकेगा। यदि उसने शास्त्री प्रथम वर्ष की परीक्शा वही पाठ्यक्रम विषय लेकर उतीर्ण किया हो, जो इस विश्वविद्यालय के समकक्श मान्य हो तथा एक शैक्शणिक सत्र में विश्वविद्यालय के अध्यापन विभाग या सम्बद्ध महाविद्यालय में नियमित छात्र के रूप अध्ययन किया हो। नियमित / भूतपूर्व छात्रों के अतिरिक्त इस अध्यादेश के अधीन स्वाध्यायी छात्र भी अध्यादेश 6 (परीक्शा सामान्य) के प्रावधानों के अन्तर्गत प्रविश्ट हो सकेंगे।
  • महाविद्यालय में प्रवेश प्राप्त करने के लिए प्रत्येक आवेदक को इस विवरण पुस्तिका के साथ संलग्न निर्धारित प्रवेश आवेदन पत्र को ही प्रेशित करना अनिवार्य है। प्रत्येक आवेदन पत्र छात्र छात्रा द्वारा स्वतः पूरित छात्र छात्रा के माता पिता अथवा अभिभावक द्वारा यथाविधि प्रमाणित होकर महाविद्यालय में निर्धारित तिथि के पूर्व कार्यालय में जमा करना अनिवार्य होगा।
  • संलग्न सहपत्र:- नियमित कक्शाएँ 1 जुलाई से प्रारंभ होगी, आवेदन पत्र के साथ निम्नलिखित का प्रालेख प्रस्तुत करना आवश्यक है -
  • विद्यालय अथवा महाविद्यालय जहाँ छात्र पूर्व अध्ययन करता था त्यागने का मूल प्रमाण पत्र (T.C.) ।
  • आवेदक द्वारा उर्ण परीक्शा की अंकसूची की अभिप्रमाणित दो छायाप्रतियाँ।
  • पं0 रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर अथवा छ.ग.शिक्शा मण्डल के अतिरिक्त अन्य विश्वविद्यालय, बोर्ड के छात्रों को प्रवजन प्रमाण-पत्र (माइग्रेसन सर्टिफिकेट) प्रस्तुत करना होगा।
  • आचरण प्रमाण पत्र।
  • खेल प्रमाण पत्र यदि कोई हो तो।
  • जाति प्रमाण पत्र केवल अनुसूचित जाति / जनजाति वर्ग के छात्रों के लिए।
  • पासपोर्ट साईज फोटो एक प्रति।
  • अन्य कोई प्रमाण-पत्र यदि हो तो।
महाविद्यालय में किये जाने वाले प्रवेश पं0 रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर के स्वीकृति पर आधारित है।